Saturday, 20-07-2024
नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91-8273618080 , हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें | अन्य शहरों की ख़बरें देने के लिए एवं रिपोर्टर बनने के लिए संपर्क कर सकते है मोबाइल नंबर : +91-8273618080

फिरोजाबाद के अगले दिन यूपी के बरेली में अराजकता : योगीराज की कानून व्यवस्था को बीच सड़क एलानिया रौंदा भूमाफियाओं और भाड़े के गुर्गों ने ! घंटों हाईवे पर मजाक बनकर रह गया लॉ एंड ऑर्डर ! प्लॉट पर कब्जे को लेकर कई राउंड फायरिंग, आगजनी, तोड़फोड़ व पथराव ! थानेदार सहित 7 सस्पेंड ! एक और अनफिट एसएचओ को मिली इज्जतनगर की कमान

धर्मेन्द्र रस्तोगी

 facebook     whatsapp    

लखनऊ (धर्मेंद्र रस्तोगी/जर्नलिस्ट इन्वेस्टीगेशन न्यूज)। पूर्वांचल के माफियाओं की तर्ज पर कानून व्यवस्था को खुली चुनौती देते हुए यूपी के बरेली में शनिवार सुबह भूमाफिया राजीव राणा व आदित्य उपाध्याय ने अपने गुर्गों के साथ इज्जतनगर इलाके में एलानिया गुंडाराज कायम करते हुए हाईवे के प्लॉट पर कब्जे को लेकर गैंगवार किया। दोनों गुटों की ओर से कानून का हौव्वा हवा में उड़ाते हुए कई घंटे ताबड़तोड़ फायरिंग की गयी। यहाँ तक कि जेसीबी में आगजनी हुई। पथराव के साथ ही तोड़फोड़ हुई। सरेआम हथियार लहराये गए। दुस्साहसिक घटना से राहगीरों में भगदड़ मच गयी। आसपास के लोग घंटों घरों में कैद रहे। पहले तो काफी देर पुलिस मौके पर ही नहीं पहुंची। जब अफसरों के संज्ञान में घटना आई। अधिकारियों की फटकार पर जो पुलिस कर्मी घटनास्थल पर पहुंचे भी वो जिगर फिल्म की तरह मौके पर सिर्फ तमाशबीन बने कानून की किरकिरी होते देखते रहे। सूबे के पूर्वांचल में अक्सर देखा गया है कि माफियाओं में गैंगवार के दौरान घंटों घंटों ताबड़तोड़ फायरिंग की घटना होती थी। पुलिस माफियाओं के आगे नतमस्तक रहती थी। यही हाल शनिवार दिनदहाड़े पीलीभीत रोड पर रहा। दैनिक दिनचर्या का सामान लेने राहगीर मार्केट जाने को निकले तो देखा कि पीलीभीत हाईवे पर सड़क के दोनों ओर से दो गुटों के गुर्गे कई राउंड फायरिंग कर रहे हैं। एक गुट के गुर्गों ने जेसीबी को आग के हवाले कर दिया। बीच सड़क पथराव के अलावा प्लॉट पर तोड़फोड़ के साथ ही खुली अराजकता की गयी। फिलहाल, पूरे घटनाक्रम में सामने आया है कि मुख्य मार्केट के कॉमर्शियल प्लॉट पर कब्जे को लेकर गोलीबारी की यह बड़ी वारदात बरेली में हुई है। घटना से सम्बंधित वीडियो कुछ ही देर में इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए तो लखनऊ तक खलबली मच गयी। सीएम व डीजीपी ने घटना का संज्ञान ले अफसरों से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की है। साथ ही साथ अराजकता फैलाने वालों पर कानूनी हंटर चलाने के सख्त निर्देश दिये। लखनऊ की टेढ़ी नजर के बीच, पूरे मामले में दो एफआईआर दर्ज की गयी हैं। दोनों गुटों के तमाम गुर्गों को हिरासत में लेकर पुलिसिया स्टाइल में पूछताछ जारी है। पुलिस की कमजोर पकड़ के चलते मौके से फरार सनसनीखेज वारदात के मुख्य खलनायकों व अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी को एसओजी से लेकर पुलिस की कई टीमें जुटी हैं। सोशल मीडिया पर घटना को लेकर यूपी पुलिस की जमकर फजीहत होने के मध्य लापरवाही के आरोप में इंस्पेक्टर इज्जतनगर जयशंकर सिंह समेत 7 पुलिस कर्मियों को बरेली एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान ने तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। सभी पुलिस कर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू हो गयी है। मुरादाबाद में तैनाती के दौरान लगातार विवादों से घिरे रहे सीबीगंज एसएचओ राधेश्याम को इंस्पेक्टर इज्जतनगर बनाया गया है। बार-बार मीटिंगों में अफसरों के निर्देश के बावजूद थाना प्रभारी राधेश्याम सीबीगंज इलाके में नई परंपरा नहीं रोक पाए। नई परम्परा के खिलाफ हाईवे पर जाम लगाने के साथ ही थाना घेरा गया। सांप्रदायिक तनाव की घटना लखनऊ तक गूंजी थी। इज्जतनगर थाना प्रभारी बनने के बाद राधेश्याम क्या गुल खिलाएंगे ? यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। घटना को अंजाम देने वाले भूमाफियाओं तथा उसके गुर्गों पर गैंगस्टर, एनएसए, सम्पति जब्तीकरण की कार्रवाई किये जाने की बात अफसर कर रहे हैं। चर्चा है कि सीएम योगी बरेली की घटना से बेहद नाराज हैं। गुंडई की हदें पार करने वाले मुख्य भू माफिया पुलिस पकड़ से अभी कोसों दूर हैं। इस बीच, बरेली की घटना पर विपक्षी नेताओं ने योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल खड़े किए हैं। इस पूरे घटनाक्रम में जांच का ये भी विषय है कि इन भू माफियाओं को आखिरकार पर्दे के पीछे से कौन संरक्षण दे रहा है?। स्थानीय लोगों से सभी बिन्दुओं पर पुलिस छानबीन जारी है। खुफिया टीमें भी पड़ताल में जुटी हैं। (जर्नलिस्ट इन्वेस्टीगेशन न्यूज)।

whatsapp whatsapp